क्लाउड

मोबाइल से पुरानी 
ट्रैश हटा कर
वो मशीन को अपडेट
कर चुके हैं।
उन्हें खूब पता है,
बस कुछ डेटा मात्र है
हर अनुभव अब,
इस उतावले  समय में।


यादें,जहाँ बहोत तेज़
डिलीट की जाती हैं।
उन आगे बढ़ चुके
रिश्तों को पर
यह पता नहीं है की,
भूली बिसरी बातों की


एक अथाह संचय
हर पल,
निःशब्द सी
जम रही हैं
बादलों के पास कहीं, 
बहोत दूर।
और सुरक्षित।
सायद हमेशा के लिए।
 


तारीख: 12.08.2017                                                        सुचेतना मुखोपाध्याय






नीचे कमेंट करके रचनाकर को प्रोत्साहित कीजिये, आपका प्रोत्साहन ही लेखक की असली सफलता है