प्रीत की डोर

 

 पावन पर्व
जोड़ देता बंधन
रक्षा -सूत्र का

  बहना खड़ी
राखी ये प्यार वाली
  लेकर थाली

स्नेह का धागा
सुन्दर कलाई पे
भाई के सजे


रिश्तों के छोर
बनाए मज़बूत
प्रीत की डोर


  प्यारा बंधन
विश्वास की लड़ियाँ
  बाँधे मन


 संस्कार धागा
रिश्तों में पिरोता
नेह का तागा


आशा की ज्योत
जगाए ह्रदय में
  रेशम डोर

   रक्षाबंधन
बहन -भाई का है
   शुभ  त्योहार
 


तारीख: 12.08.2017                                                        पूजा कालरा






नीचे कमेंट करके रचनाकर को प्रोत्साहित कीजिये, आपका प्रोत्साहन ही लेखक की असली सफलता है