रंगीनियों का रज़ाकार है बॉलीवुड

रंगीनियों का रज़ाकार है बॉलीवुड
ख्वाबों का परौकार है बॉलीवुड ।


और कुछ चाहे हो या न हो मगर
एक खुदगर्ज सरकार है बॉलीवुड ।


किसे जमाना है, किसे मिटाना है
इन सब के लिए तैयार है बॉलीवुड ।


लाखों लड़के लड़कियों का शोषण
करने वाला कलाकार है बॉलीवुड ।


कितना झुठा है कितना सच्चा यारों
अब बताना ही बेकार है बॉलीवुड ।


जिनके पैसों पे हैं मौज़ उड़ाते सारे
उसी जनता से बेज़ार है बॉलीवुड ।


क्या कहे अजय अब तुमसे, लोगों
शिकारी और शिकार है बॉलीवुड ।


तारीख: 03.07.2020                                                        अजय प्रसाद






नीचे कमेंट करके रचनाकर को प्रोत्साहित कीजिये, आपका प्रोत्साहन ही लेखक की असली सफलता है