एकादशी

( महीने की सबसे पावन तिथि है एकादशी. इसकी गरिमा और महिमा बुद्धि और तर्क की परिधि से बाहर है।प्रस्तुत है, मेरे यत्किंचित अल्पबुद्धि और अल्पज्ञान
द्वारा रचित, एकादशी की यह आध्यात्मिक व्याख्या )

एकादशी का अर्थ है
एक आदत सी
हाँ, एक आदत सी
मनसा वाचा कर्मणा
शुद्ध-बुद्ध होते जाने की
भाव, चेतना, चिंतन की
एक अद्भुत, दिव्य त्रिवेणी में
डुबकी लगाते जाने की
मृगतृष्णा के मोहपाश से
खुद को छुड़ाते जाने की
माया के कारावास से
मुक्त होते जाने की
उम्र के हर लमहे द्वारा
जीवन-पथ के हर मोड़ पर
लिखते जाने की , पग-पग पर
रूहानी सी एक पाक इबारत सी
एकादशी का अर्थ है
एक आदत सी

पाँच हैं ज्ञानेंद्रियाँ
पाँच ही कर्मेन्द्रियाँ
इस एकादश को पूरा करता
ग्यारहवाँँ यह मन
साँस-साँस संग
पल-पल, क्षण-क्षण
इन दस घोड़ों की यह लगाम
बुद्धि-सारथि के
दक्ष हाथ में थामने की
इसके द्वारा देह-रथ से
परम लक्ष्य को साधने की
संयम के एक दिव्य सूत्र से
इन सबको यूँ बाँधने की
कोशिश करती एक प्रार्थना
एक अर्चना, वंदना, उपासना 
सच्चे मन से दुआ माँगती
मालिक की एक इबादत सी
एकादशी का अर्थ है
एक आदत सी


तारीख: 06.09.2019                                                        सुधीर कुमार शर्मा






नीचे कमेंट करके रचनाकर को प्रोत्साहित कीजिये, आपका प्रोत्साहन ही लेखक की असली सफलता है