प्रेम में डूबे लोग

वो गले तक 
प्रेम में डूबे लोग थे

किंतु उनके हिस्से में न था
घूंट भर प्रेम

जब वो मरे,
पंचनामा लगातार
कहता रहा 
वो 
हृदयाघात
से मरे थे। 

सिवाए उनके
कभी कोई न जान सका
वो
प्रेम की प्यास से मरे थे। 


तारीख: 01.05.2020                                                        रिया प्रहेलिका






नीचे कमेंट करके रचनाकर को प्रोत्साहित कीजिये, आपका प्रोत्साहन ही लेखक की असली सफलता है