रानी लक्ष्मीबाई

rani of jhansi

 

छबीली का बचपन लिखूं

मनु का अल्लहड़पन लिखूं

आजादी की जो मशाल बनी

उस लक्ष्मी का जीवन लिखूं

 

लक्ष्मी की ललकार लिखूं

नारी की तलवार लिखूं

सबसे पहले लगाई हुई

आजादी की हुँकार लिखूं

 

सन सत्तावन की आग लिखूं

बुंदेले हरबोलों का राग लिखूं

झाँसी की रानी के यशगान में

मैं अपना अटूट अनुराग लिखूं

 

मर्दानी का अमर गान लिखूं

या अंग्रेजों का मशान लिखूं

दुश्मनों के आगे झुकने न दिया

झाँसी का सम्मान लिखूं

 


तारीख: 20.06.2020                                                        सोनल ओमर






नीचे कमेंट करके रचनाकर को प्रोत्साहित कीजिये, आपका प्रोत्साहन ही लेखक की असली सफलता है