अजीब मेरे देश में प्रयास हो रहा है।

अजीब मेरे देश में प्रयास हो रहा है।
कागजो में पूरा विकास हो रहा है।


रातो में चाँद की रौशनी
दिन में स्ट्रीट लाइटों का प्रकाश हो रहा हैं।

अजीब मेरे देश में प्रयास हो रहा है।


अलग -अलग पैकजो का इंतज़ार हो रहा है।
कैसे करना है घोटाला 
जोरो से इसका का प्लान हो रहा है।
वाह भाई देश में क्या काम हो रहा है।


अजीब मेरे देश में प्रयास हो रहा है।
कागजो में पूरा विकास हो रहा है।


तारीख: 18.07.2017                                                        विनोद महतो






नीचे कमेंट करके रचनाकर को प्रोत्साहित कीजिये, आपका प्रोत्साहन ही लेखक की असली सफलता है