मैं बहुत रो लिया अब हँसा दो मुझे

मैं बहुत रो लिया अब हँसा दो मुझे।
मैं बहुत रो लिया अब हँसा दो मुझे।
प्यार थोडा सा अपना जता दो मुझे।
तुमको चाहूँ मैं क्यों ना बता दो मुझे।
मैं बहुत रो लिया अब हँसा दो मुझे।

मन मंदिर में तुम ही बसी हो प्रिये।
मेरे चेहरे की प्यारी ख़ुशी हो प्रिये।
मेरे सपनो में आकर सता दो मुझे।
मैं बहुत रो लिया अब हँसा दो मुझे।

जिन्दगी का ये हर पल तेरे नाम है।
प्यार में तो तेरे हम बदनाम हैं।
प्यार कैसे करूं अब बता दो मुझे।
मैं बहुत रो लिया अब हँसा दो मुझे।

प्यार करता हूँ तुमसे खुदा की कसम।
आ कर दखो जरा इस दिल में सनम।
इतनी खुदगर्जी क्या जो सता दो मुझे।
मै बहुत रो लिया अब हँसा दो मुझे।

महलों से गिरा एक पत्थर हूँ मैं।
ठोकरों से लडा एक पत्थर हु मैं।
मन के मंदिर में अपने सजा लो मुझे।
मैं बहुत रो लिया अब हँसा दो मुझे।

आज देखा था छोटा सा एक घोंसला।
देख कर बढ़ गया था उसे होंसला।
अपने सपनो का घर तुम बना लो मुझे।
मैं बहुत रो लिया अब हँसा दो मुझे।
मैं बहुत रो लिया अब हँसा दो मुझे।
     


तारीख: 14.06.2017                                                        प्रशांत पाठक






नीचे कमेंट करके रचनाकर को प्रोत्साहित कीजिये, आपका प्रोत्साहन ही लेखक की असली सफलता है