असफलता राह दिखाती है

कितने सपने संजोये थे, 
आशा के बीज बोये थे |
मेहनत की थी उनके लिए, 
स्वर प्रार्थना से भिगोये थे |
ये बीज अकुंरित न हुए तो क्या, 
नए बीज लगाना सीखो |  असफलता राह दिखाती है .............

एक असफलता से निराश हो जाओगे, 
प्रयास का कर्त्तव्य छोड़ यूँ मौन बैठ जाओगे |
अरे! दीपक हो तुम उम्मीदों के, 
विफलता के अन्धकार से डर जाओगे |
चीर कर इस तिमिर को उजियारा करना सीखो | असफलता राह दिखाती है.........

अनुभव से मिलती है सफलता, 
अनुभव देकर जाती असफलता |
गलती पहचानो और अागे बढ़ो, 
फिर सफलता मे बदल जाएगी असफलता, 
दुसरो की गलती से भी सीखना सीखो | असफलता राह दिखाती है.......

हर कोई कभी न कभी असफल होता है, 
डर के रूक जाए यहीं, व्यक्ति वह तो कायर होता है |
चलते चलते गिरना कोई नई बात नही, 
गिरकर भी जो सँभल जाए व्यक्ति वही महान होता है |
महानता के इस गुण को अपनाना सीखो |
असफलता राह दिखाती है.......
 


तारीख: 25.12.2017                                                        अनिल रघुवंशी






नीचे कमेंट करके रचनाकर को प्रोत्साहित कीजिये, आपका प्रोत्साहन ही लेखक की असली सफलता है