कुछ दिन आईसोलेट किया है!

तुमने पहली बार किया है,
मैंने तो सदा से ही
लाकडाऊन जीया है!


मुझे रत्ती भर फर्क नहीं पड़ता,
कौन सा होटल बंद,
कौन सा बाज़ार खुला है!


मेरे लिए जो लक्ष्मण रेखा
खींचते आए हो सदियों से,
तुमने शायद पहली दफा
इसे  महसूस किया है!


घर, बच्चे, तुम और मैं
साथ रहे इसी बहाने शायद
इसीलिए कुदरत ने हमें
कुछ दिन आईसोलेट किया है!
 

Facebook Link:
 


तारीख: 07.04.2020                                                        सुजाता






नीचे कमेंट करके रचनाकर को प्रोत्साहित कीजिये, आपका प्रोत्साहन ही लेखक की असली सफलता है