लड़के


ओए ,
इंटर के लड़कों !
तुम्हारे,
उठने-बैठने,
खाने-पीने,
सोने-जगने,
पढ़ने-लिखने
पबजी-लूडो
हेयर-केयर,
जींस-शर्ट,
टीवी-मोबाईल
स्टाईल-स्माईल,
को लेकर,
कसे जाने वाले
तंज का रंज न
किया करो!
बिंदास,
अपने ढंग से
जीया करो !
क्योंकि ,
ये जिंदगी मिलेगी न दोबारा !
फिर,
आत्म-सम्मान भी तो हक है तुम्हारा !


तारीख: 09.06.2020                                                        सुजाता






नीचे कमेंट करके रचनाकर को प्रोत्साहित कीजिये, आपका प्रोत्साहन ही लेखक की असली सफलता है